जागो शक्तिस्वरूपा नारी - श्रीराम शर्मा आचार्य Jago Shakti Swaroopa Nari - Hindi book by - Sriram Sharma Acharya
लोगों की राय

आचार्य श्रीराम शर्मा >> जागो शक्तिस्वरूपा नारी

जागो शक्तिस्वरूपा नारी

श्रीराम शर्मा आचार्य

प्रकाशक : युग निर्माण योजना गायत्री तपोभूमि प्रकाशित वर्ष : 2020
पृष्ठ :60
मुखपृष्ठ : ईपुस्तक
पुस्तक क्रमांक : 15496
आईएसबीएन :00000

Like this Hindi book 0

5 पाठक हैं

नारी जागरण हेतु अभियान

मित्रता, सहयोग और सहचरत्व


कहा गया है कि मित्रता, सहयोग और सहचरत्व समान लोगों में ही सफल होते हैं। स्त्रीपुरुष चूँकि अधिकार विकसित क्षमता और अर्जित योग्यता की दृष्टि से काफी विषम है। इसलिए उनकी मित्रता दाम्पत्य संबंध मित्रता, सहयोग और सहचरत्व  न रहकर दासता, शासक-शासित, शोषक-शोषित और घोड़े तथा बकरी का साथ है।

ऐसी स्थिति में दाम्पत्य जीवन कभी सफल नहीं हो सकता। विवाह का उद्देश्य कभी पूरा नहीं हो सकता। पराधीनता के बंधनों और प्रतिबंधों की लगाम को दाम्पत्य जीवन के अपराध मानकर जितनी जल्दी हो सके, उन्हें नष्ट करने का समाधानपूर्ण उपाय खोजना चाहिए।

...पीछे | आगे....

<< पिछला पृष्ठ प्रथम पृष्ठ अगला पृष्ठ >>

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book