जगाओ अपनी अखण्डशक्ति - श्रीराम शर्मा आचार्य Jagao Apni Akhandshakti - Hindi book by - Sriram Sharma Acharya
लोगों की राय

आचार्य श्रीराम शर्मा >> जगाओ अपनी अखण्डशक्ति

जगाओ अपनी अखण्डशक्ति

श्रीराम शर्मा आचार्य

प्रकाशक : युग निर्माण योजना गायत्री तपोभूमि प्रकाशित वर्ष : 2020
पृष्ठ :60
मुखपृष्ठ : ईपुस्तक
पुस्तक क्रमांक : 15495
आईएसबीएन :00000

Like this Hindi book 0

5 पाठक हैं

जगाओ अपनी अखण्डशक्ति

2. वैदिक मंत्र

1. असतो मा सद्गमय,

तमसो मा ज्योतिर्गमय

मृर्त्योमां मृतं गमय।

2. सहनाववतु सहनौ भुनक्तु,

सह वीर्यं करवावहै।

तेजस्विनावधीतमस्तु,

मा विद्वषावहै।।

3. सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयः।

सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चित् दुःख भागभवेत्।।

4. ऊँ द्यौ शान्ति, अतरिक्षग्वं शान्ति, पृथ्वी शान्ति रापा शान्ति, रौषधय शान्ति, वनस्पतयः शान्ति, ब्रह्म शान्ति, सर्वग्वंशान्ति, शान्तिरेव शान्ति. सामा- शान्तिरेधिः।

...पीछे | आगे....

<< पिछला पृष्ठ प्रथम पृष्ठ अगला पृष्ठ >>

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book